<link rel="stylesheet" href="//fonts.googleapis.com/css?family=Open+Sans%3A400italic%2C700italic%2C400%2C700">Harnarayan Saxena Archives « Aam JanataSkip to content

 

JawabDo - Social Media Campaign
#JawabDo campaign on Social Media

Lyrics of "Jawab Do"

जवाब दो (थीम सॉंग)

जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...
जवाब दो, जवाब दो, अब हमें जवाब दो
बित गये हैं चार साल, क्या किया, हिसाब दो ?
जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...

परंपरा के नाम पर... क्यों उन्मादों की धूल हैं ?
परंपरा के नाम पर, क्यों उन्मादों की धूल हैं ?
अमन की बात हम करे, ये क्या हमारी भूल हैं ?
जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...

समाज में सुधार को... रोकने की धून क्यों?
शांती के प्रयास को, मारने की होड क्यों?
शांती के प्रयास को, मारने की होड क्यों?
जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...

हत्याओं का सिलसिला... रोक लोगे कब बता ?
हत्याओं का सिलसिला, रोक लोगे कब बता?
हत्यारोंको सरगना, छुप गया, कहाँ बता?
जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...

जवाब दो, जवाब दो, अब हमें जवाब दो
बित गये हैं चार साल, क्या किया, हिसाब दो
जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...
जवाब दो... जवाब दो... जवाब दो...
जवाब दो

4th Anniversary of Narendra Dabholkar's brutal murder

Maharashtra is errupting in protest. It is the 4th anniversary of Narendra Dabholkar was brutally gunned down on the 20th of August, tomorrow. It is 2.5 years since Comrade Pansare was killed. It is 2 years since Professor M M Kalburgi was killed. While the identity of the murderers and the entities protecting them is well known, there has been no action taken by the government to bring them to justice.

Various progressive organizations Maharashtrawide are holding protests in different cities demanding answers. "Jawab Do"

Jawab do campaign in Solapur for justice for Narendra Dabholkar

When will murderers of Narendra Dabholkar be arrested? #JawabDo #Uran

#JawabDo Campaign It has been 4 years since social Reformer, Dr. Narendra Dabholkar was killed. Why are the accused still absconding? When will they and those controlling them be arrested? On the 20th August, at 5pm, DYFI is organizing a candle march protest at Ganpati Chowk, Uran. We invite you all, young and old, workers […]


Dr. Narendra Dabholkar - rationalist, humanist

#JawabDo Candle march demanding justice for the murder of Narendra Dabholkar #Solapur

#JawabDo Campaign Social Reformer, Dr. Narendra Dabholkar was killed 4 years ago. Comrade Govind Pansare was killed 2.5 years ago, Dr. M M Kalburgi was killed 2 years ago by fanatics given to religious blind faith. Who the accused are, where they live, why they killed these rationalists is all known to the government, but […]


Dr. Narendra Dabholkar - rationalist, humanist

Who killed Dr. Narendra Dabholkar? #JawabDo #WhoKilledDabholkar #Mumbai

🔹Maharashtra Andhashraddha Nirmulan Samiti🔹 is organizing the “Jawab do” campaign Nirbhay Rally at Dadar on the 20th August 2017 at 3:00pm from Veer Kotwal Udyan to Chaityabhumi It has been 4 years since Dr. Narendra Dabholkar was brutally murdered and yet there has not been a proper investigation. When will the murderers of Dr. Narendra Dabholkar, Comrade […]



1

This story about disproportionate growth of assets of Gujarat leaders appeared in the Times of India and affiliated publications and was withdrawn without explanation. It compares declared assets and liabilities from affidavits filed in 2012 and 2017 as well as income and the numbers don't add up. The story clearly implies a suspicious growth in assets of both BJP and Congress politicians (2 BJP, 1 Congress, 1 Congress recently turned BJP) - Balwant Singh Rajput, Amit Shah, Smriti Irani and Ahmed Patel.

Highlights:

Full story:

In the meanwhile, this story vanished from DNA.

The following story vanished from Outlook Hindi

आंकड़ों के मुताबिक गुजरात से राज्यसभा चुनाव लड़ने वाले लगभग सभी प्रमुख उम्मीदवारों की संपत्ति में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की संपत्ति में भी खासा इजाफा हुआ है। जहां 2012 में उनकी चल संपत्ति 1.90 करोड़ रुपए की थी जो अब यह बढ़कर 19 करोड़ हो गई है। अपने शपथ-पत्र में शाह ने अपनी संपत्ति का विवरण दिया है। इस विवरण के अनुसार उन्हें 10.38 करोड़ रुपए की चल संपत्ति पैतिृक तौर पर भी मिली है। आंकड़ो के मुताबिक पिछले 5 साल में शाह और उनकी पत्नी की चल और अचल संपत्ति में कुल 300 फीसदी का इजाफा हुआ है। 2012 में उनकी कुल संपत्ति 8.54 करोड़ रुपए थी, वह बढ़कर 2017 में 34.31 करोड़ रुपए हो गई है।

प्रमुख उम्मीदवार भी हुए मालामाल

#मालामाल सांसद उम्मीदवारों की फेहरिस्त में केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी का भी नाम अहम है। इरानी और उनके पति जुबिन इरानी की संपत्ति में भी 80 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इरानी दंपती की 2014 में 4.91 करोड़ रुपए अचल संपत्ति बढ़कर अब 8.88 करोड़ रुपए हो गई है। बता दैं कि केंद्रीय मंत्री के पति की संपत्ति में तो वृद्धि हुई है, लेकिन खुद उनकी निजी संपत्ति में कोई इजाफा नहीं हुआ है।

#मान जा रहा है कि कांग्रेस छोड़कर भाजपा प्रवेश किए बलवंत सिंह राजपूत यदि राज्यसभा पहुंचते हैं तो वह गुजरात के सबसे धनवान राज्यसभा सदस्यों की सूची में शुमार होंगे। राजपूत के पास चल और अचल संपत्ति मिलाकर 2012 में 263 करोड़ रुपए की संपत्ति थी, जो 2017 में 316 करोड़ रुपए तक पहुंच गई।

#कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल की संपत्ति में भी काफी बढ़ोत्तरी हुई है। हलफनामे के मुताबिक 2011 से 2017 तक में उनकी संपत्ति में 123 प्रतिशतकी बढ़ोतरी हुई है। गुजरात से राज्यसभा सदस्य पटेल की सालाना आय 15,10,147 रुपए है। वहीं उनकी पत्नी की वार्षिक आमदनी भी 20,15,900 रुपए है।